received_917479635062271
एक बिहारी सब पर भारी मनोरंजन

बिहार की एक आवाज जिसके बिना छठ गीतों का बजना बेमानी है, जिसे सुन परदेसी घर आने लगते हैं

दिवाली जाते ही बिहार का महापर्व सबका ध्यान अपनी तरफ खींचना शुरू कर देता है| महिलाओं और पुरुषों, दोनों की तैयारियों और जिम्मेदारियों की लिस्ट लगभग बराबर होती है| यही नहीं, जिसके यहाँ छठ पूजा हो रहा हो और जिसके यहाँ पूजा न हो रहा हो, उन दोनों की तैयारियाँ और जिम्मेदारियाँ भी लगभग बराबर […]