बिहार के इस बेटी और प्रसिद्ध कवियित्री के मन में बसल बा बिहार !

img-20161021-wa0000

हाँ ये वही दिन है २१ अक्टूबर 1992 जिन दिन शाम  को शशि भूषण मिश्रा  जी  के परिवार और जिंदगी में ऐसे  मिठास  बढ़ गया की मानो वक़्त ने यूँ मुठी भर के मिश्री ही  घोल गया हो ! कुछ दिन में नन्ही  से गुडिया का नाम “नेहा” रखा  गया  ! नेहा फिर बढ़ने लगी […]

Read more

top