आपना लेख बिहारी विशेषता

बिहार का अवदान, योग का वरदान

बिहार का अवदान, योग का वरदान योग के सूर्य का हुआ उदय, बिहार की पुण्य धरा पर। गायत्री मन्त्र की गूँज उठी, इसी विद्या-वसुंधरा पर।। षडंग योग, अष्टांग योग, सबने यहीं पाया आकार। हठयोग हो, शव साधना हो, सबके बने यहीं संस्कार।। इसी धरा पर सत्यानन्द ने, योग विद्यालय किया स्थापित।  बना प्रथम यह विश्वविद्यालय, […]

Great Bihar आपना लेख

मैं बिहार बोल रहा हूँ, दुखी बहुत हूँ, आज हृदय को खोल रहा हूँ (भाग -2)

(आत्मावलोकन अध्याय) सुनो मेरी संतानों हाय, मैं तो बोल रहा बिहार हूँ, रोज अधोगति को पाता हूँ, फिर भी खड़ा बिहार हूँ, जहाँ जातिवाद का हल्ला है, मैं तो वही बिहार हूँ, जहाँ भ्रष्टाचार ही फैला है, मैं वही बिहार हूँ, रंगदारी जहाँ फल-फूल रही, मैं तो वही बिहार हूँ, शिक्षा व्यवस्था की बदहाली पर, […]

Education आपना लेख खबरें बिहार की

विश्लेषण: बिहार के शिक्षामित्र ही बन गये बिहार के शिक्षा व्यवस्था के शत्रु

प्रिय पाठकों ! बिहार के एक गाँव के दो वार्तालाप-दृश्य का आनंद लीजिए– प्रथम दृश्य “का हो खुरखुर भाई ! रामधनी के बड़का बिटवा पप्पू त शिक्षामित्र बन गया। हाँ हो कामेश्वर भाई ! अभिये रामधनी जी मिठाई खिला के गये हैं। ओहो, खुरखुर भाई, उनके बड़का बिटवा पप्पुआ तो गोबर-गणेश है, कैसे बन गया जी […]

आपना लेख

खरना या लोहंडा: चार दिवसीय छठ पूजा का दूसरा दिन!

छठ पर्व : वैसे तो छठ पर्व साल में दोबार मनाया जाता है एक बार यह हिंदी महीना के अनुसार चैत्र मास षष्ठी को और दूसरा कार्तिक शुक्ल पक्ष के षष्ठी को मनाया जाता है। यह हिंदुयों का प्रमुख पर्व है। सूर्योपासना का यह अनुपम लोकपर्व मुख्य रूप से बिहार, झारखण्ड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और नेपाल के तराई […]

Aapna Bihar Exclusive आपना लेख एक्ट्रेस

बिहार अभी प्रगति के दौर में चल रहा है- मुकेश खन्ना

राजधानी पटना के अधिवेशन भवन में हो रहे बोधिसत्व इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में तीसरे दिन को सबसे पहले रुचिका ओबराय की फिल्म आइलैंड सिटी का प्रदर्शन हुआ। वही फिल्म फेस्टिवल में शनिवार को बॉलीवुड अभिनेता मुकेश खन्ना पहुंचे। अभिनेता मुकेश खन्ना ने आपन बिहार के अंकित कु. वर्मा से बातचीत में कहा कि इस तरह […]

Aapna Bihar Exclusive आपना लेख

चीन के विकास का विरोधाभासी है बिहार की शराबबंदी का ढोल

चीन के विकास का विरोधाभासी है बिहार की शराबबंदी का ढोल (शशिकान्त सुशांतश):राबबंदी की सफलता और उसके परिणाम को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का यह तर्क कि अगर पूरे देश में शराबबंदी लागू कर दी जाए तो देश विकास में चीन से आगे निकल जाएगा? इस तथ्य को ऐतिहासिक संदर्भ् के तराजू पर […]

आपना लेख

बिहारी खाना – खजाना!

बिहारी खाना-खजाना बिहार में खाने की समृद्ध परम्परा है। हमारे बुजुर्गों ने सिखाया है, बरसात आने से पहले घर में पर्याप्त चीजें बना और इकट्ठी कर लीं जानी चाहिए ताकि बरसात के फीके मौसम में भी खाने का स्वाद बना रहे। बड़े-बड़े शहरों की छोड़ो, हमारे गाँव-देहात में खाने को प्रिजर्व करने की जो टेक्निक […]

आपना लेख

क्या कारण है, जो गरीब, किसान, और मजदुर के बच्चे सफल हो जाते है

किसान और गरीब परिवार के बच्चे इतनी अधिक संख्या में कैसे IAS बन जाता है? ये आप बखूबी जानते होंगे की किसान कितने मेहनती होते हैं। और बिहार की अधिकतर लोग किसान ही हैं, और वो कृषि पर आश्रित होते हैं। जब वो दिन-रात मेहनत करके फसल उपजाते हैं और फसल के कटाई के समय […]

आपना लेख खबरें बिहार की राष्ट्रीय खबर

वर्तमान नालंदा विश्वविद्यालय एक सपना साकार होने जैसा है : राष्ट्रपति

आज बिहार के लिए बहुत एतिहासिक दिन था।  800 वर्षों बाद फिर बिहार ने इतिहास को दोहराया है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी अंतरराष्ट्रीय नालंदा विश्वविद्यालय के पहले दीक्षांत समारोह में शामिल हुए और विश्वविद्यालय के पहले सत्र के कुल बारह छात्रों को सम्मानित किया । इसमें दो छात्र, शशि अहलावत और साना सालाह को गोल्ड मेडल से नवाजा। […]

Aapna Bihar Exclusive Education Featured आपना लेख

कुछ कहना चाहती हैं बेटियाँ

“आवाज नीची कर के बात करो; ऐसे ठहाके न लगाओ; पैर मोड़ के बैठना सीखो; दुपट्टा लिए बिना कहाँ चली; आधे घंटे से ज्यादा मत रुकना; भाई को साथ ले जाओ; 10 साल की हो गयी, अब क्या खेलती ही रहेगी ताउम्र; ये क्या प्यार-व्यार वाली शायरी लिखती हो; सुशील लड़कियाँ किसी को जवाब नहीं […]

आपना लेख बिहारी विशेषता

अफ़सोस आजादी के 69 वर्ष बीत गए

आज 15 अगस्त है. संपूर्ण राष्ट्र बड़े ही हर्षोल्लास से आजादी का 70वां पर्व मना रहा है. आप सबों को बधाई हो ये पावन पर्व। खैर बधाई आने की शुरुआत कई दिन पहले से ही हो गयी थी. राष्ट्रभक्ति की लाइन से मानों मेरा मैसेज-बॉक्स भी सराबोर हो चूका है। फेसबुक-व्हाट्सएप हर जगह तिरंगा से […]

Aapna Bihar Exclusive आपना लेख बिहारी क्रांतिकारी

#BihariKrantikari: मैं मर जाऊँगा, पर मेरे ख़ुन से लाखो बहादुर पैदा होंगे

बिहारी क्रांतिकारी में हम रोज आपको बता रहे हैं बिहार के उन जाबाज़ और महान लोगों के बारे में जो देशहित के लिए अपना पूरा जीवन लगा लगा दियें। हम आजादी के 70 वाँ साल का जश्न मनाने वाले है,  मगर आज हमारा देश जिस मुकाम तक पहुंच पाया उसके लिए न जाने कितने वतन के […]

आपना लेख राष्ट्रीय खबर

जिंदगी से हार चुके लोगों को जीने की नयी किरण देगी बिहार की बेटी स्वाति की ये नॉबेल

  दुनिया में ऐसा कोई भी व्यक्ति नही होगा, जिसने कभी किसी की आत्महत्या की खबर नही पढ़ी या सुनी होगी। कभी किसी बड़े सितारे की आत्महत्या की खबर, तो कभी किसी छात्र की आत्महत्या की खबर, तो कभी किसी आम इंसान की सुसाइड की खबर हम अक्सर समाचारों में पढ़ते हैं। स्वाति के लिए […]

Aapna Bihar Exclusive आपना लेख खबरें बिहार की

जरा याद करो कुर्बानी, बिहार के इन बेटों नें देश की रक्षा के लिए अपनी जान कुर्बान कर दिया

आज से 17 साल पहले, जब हम अपने-अपने घरों में बैठे सावन की बारिश का आनंद ले रहे थे, कारगिल में तैनात हमारे सैनिक अपनी लहू से उस बारिश में रंग भरने की कोशिश में थे| तमाम देशवासियों के साथ अपना बिहार की टीम अपने नौजवानों के सहादत को याद करती है| हम नमन करते […]

आपना लेख खबरें बिहार की बिहारी विशेषता

अपनी कमजोरियों को ताकत बनाकर बिहार की बेटी स्वाति ने लिखी इंग्लिश नॉबेल

अक्सर टूटे हुए लोग टूटते चले जाते हैं, अपनी कमजोरियों से कमजोर होकर लोग आगे बढ़ना छोड़ देते हैं। अगर हम अपनी परेशानियों को अपनी ताकत बनाकर आगे बढ़ने की कोशिश करें तो सफलता ऐसी मिलती है की खुद के साथ ही दूसरों के लिए भी हम प्रेरणा बन जाते हैं। कुछ ऐसी कहानी बिहार […]

आपना लेख एक बिहारी सब पर भारी खेल जगत

18 के हुए बिहार के लाल और भारतीय अंडर 19 टीम के कफ्तान ईशान किशन

राजधानी पटना में 18 जुलाई 1998 को जन्मे भारतीय अंडर 19 टीम के कफ्तान ईशान किशन मुख्यतः बिहार के नवादा जिले के निवासी हैं। श्री प्रणव पांडे एवं सुमित्रा सिंह के छोटे पुत्र ईशान जिस नाम से शायद भारत का कोई क्रिकेट-प्रेमी अंजान नही होगा, अपने शानदार नेतृत्व के बदौलत फ़रवरी 2016 में बांग्लादेश में आयोजित अंडर 19 विश्वकप में भारतीय टीम को फाइनल में पहुंचाने वाला खिलाड़ी आज 18 वर्ष के हो गए हैं। ईशान बताते है की वो बचपन में क्रिकेट सिर्फ मस्ती के लिए खेला करते थे उन्हें क्रिकेट में कोई खास दिलचस्पी नही थी जबकि उनके बड़े भाई राज किशन एक अच्छा क्रिकेटर बनना चाहते थे दोनों भाई शुरुआत के दिनों में पटना स्थित कोच उत्तम मजूमदार के कोचिंग में क्रिकेट खेला करते थे, उत्तम ईशान के खेल से काफी प्रभावित हुए और उन्हें लगा ये भविष्य में एक अच्छा क्रिकेटर बन सकता है इसके लिए उत्तम ने ईशान के पिता से मिलकर उन्हें झारखण्ड भेजने […]