बिहार दर्शन

रक्षाबंधन: जानिए इस बार 18 मिनट तक ही रहेगा राखी का शुभ समय।

भाई बहन के पवित्र रिश्ते का त्योहार हिंदी कैलेंडर के अनुसार सावन महीने के पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है इस वर्ष रक्षा बंधन सात अगस्त को है। इस दिन भद्रा योग और सूतक लगने के कारण राखी बांधने का शुभ मुहूर्त सुबह 10.30 से 10.48 बजे तक रहेगा। प्रात काल से भद्रा योग शुरू […]

पर्यटन स्थल बिहार दर्शन

ककोलत बना गर्मी में सबसे कूल डेस्टिनेशन, एडवांस बुकिंग | आपने घुमा की नहीं ?

राज्य के नवादा जिले के ककोलत बना सबसे कूल डेस्टिनेशन, बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम के तहत शनिवार और रविवार को वातानुकूलित बसें चलाई जा रहीं हैं। और यह टूर पैकेज हिट जा रहा है। ककोलत टूर पैकेज के तहत चलाये जारहे बसें के सभी सीटों की एडवांस में बुकिंग हो जा रही है। शनिवार को […]

Aapna Bihar Exclusive Featured Great Bihar बिहार दर्शन

मैं बिहार बोल रहा हूँ, दुखी बहुत हूँ, आज हृदय को खोल रहा हूँ-1

मैं बिहार बोल रहा हूँ, दुखी बहुत हूँ, आज हृदय को खोल रहा हूँ-1 (गौरवगाथा अध्याय) हाँ मैं बिहार हूँ, मैं तो बिहार हूँ, मैं वही बिहार हूँ , कभी था जो भारत का शीश-मुकुट, मैं वही बिहार हूँ ।। भारत का इतिहास प्रारंभ होता जहाँ से,मैं वही बिहार हूँ , देवभूमि और धर्मभूमि मैं, […]

पर्यटन स्थल बिहार दर्शन

कई बार हुई बोधिवृक्ष को नष्ट करने की कोशिश | पढ़ें पूरी कहानी

बोधिवृक्ष: बोधिवृक्ष गया के बोधगया में स्थित विश्व प्रासिद्ध महाबोधी मंदिर के पीछे स्थित एक पीपल का वृक्ष है। ऐसा माना जाता है कि यह वही वृक्ष है जिसके नीचे बैठकर गौतम बुद्ध को बोध यानी ज्ञान प्राप्त हुआ था। बौध धर्म को मानने वालों के लिए यह वृक्ष बहुत महत्व रखता है। बोधगया में बोधिवृक्ष के […]

Great Bihar पर्यटन स्थल बिहार दर्शन

बिहार में शराबबंदी का सीधा असर पर बिहार पर्यटन पर | पढ़ें पूरी खबर

बिहार में शराबबंदी के बावजूद है बहार, पर्यटकों की संख्या 68 प्रतिशत बढ़ी। कई लोगो का कहना था कि, बिहार में शराबबंदी के बाद राज्य में पर्यटन उद्योग को जबर्दस्त धक्का लगेगा, वे लोग असल में भ्रम में हैं। बिहार पर्यटन विभाग के आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2016-17 में बिहार में देसी पर्यटकों के आगमन […]

चंपारण शताब्दी वर्ष बिहार दर्शन राष्ट्रीय खबर

आज से चंपारण शताब्दी वर्ष शुरु, बापू के याद में गांधीमय हुआ पूरा बिहार

महात्मा गांधी के पहले सत्याग्रह के 100 साल पूरे होने पर सोमवार से ‘चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समारोह’ की शुरुआत होने जा रही है. यह समारोह एक साल तक चलेगा और 20 अप्रैल, 2018 को इसका समापन होगा. इसकी शुरुआत दो दिनों के ‘राष्ट्रीय विमर्श’ के साथ होने जा रही है, जो पटना के सम्राट अशोक […]

पर्यटन स्थल बिहार दर्शन

बिहार के इस अनोखे मंदिर में मूर्तियां आपस में करते हैं बातें, वैज्ञानिकों ने भी लगाई मुहर

ईश्वर के होने, न होने को लेकर अक्सर चर्चा होती रहती है। मगर, कई ऐसे चमत्कार होते हैं, जो यकीन दिलाते हैं कि ईश्वर का अस्तित्व है। ऐसा ही एक मंदिर बिहार के बक्सर में स्थित है, जहां आपको भगवान के होने पर यकीन हो जाएगा। यहां मूर्तियां बातें करती हैं और वैज्ञानिक भी इनकी […]

पर्यटन स्थल बिहार दर्शन राष्ट्रीय खबर

मैं बिहार का विक्रमशिला हूं, मुझे मेरे शिक्षक व शिष्य वापस दो

मैं बिहार का विक्रमशिला हूं। मुझे फिर से मेरे शिष्य और शिक्षक वापस चाहिए जिन्हें मैं पढ़ाई की नयी तकनीक और जानकारी दे सकूं। मुझे पाल शासकों ने बनाया था। मेरे शिक्षकों और छात्रों ने ख्याति फैलायी। दुनिया भर में मेरी महत्ता स्थापित की। फिर मुस्लिम आक्रमणकारी बख्तियार खिलजी ने मुझे विध्वंस कर दिया। इतिहास […]

खबरें बिहार की बिहार दर्शन

31मार्च से नहाय-खाय से शुरू होगी लोक आस्था का महापर्व चैती छठ

बिहार-चैत्र शुक्ल पक्ष षष्ठी पर मनाये जाने वाला चैती छठ इस बार 31मार्च से 3अप्रैल तक चलेगा।शुरू से ही लोक आस्था का महापर्व छठ को विशेष महत्व दिया जाता है।बिहार में सूर्य पूजा की परंपरा शुरू से ही रही है। मान्यता के अनुसार सप्ताह का हर दिन किसी देवता को समर्पित है। इसके तहत रविवार […]

बिहार दर्शन बिहारी क्रांतिकारी बिहारी क्रांतिकारी बिहारी विशेषता

गाँधी जी का चम्पारण सत्याग्रह का 100 साल पूरे, सम्मानित होंगे स्वतंत्रता सेनानी।

बिहार के चम्पारण जिला में महात्मा गाँधी के द्वारा चलाया गया चम्पारण सत्याग्रह के 100 वर्ष पूरे होने के अवसर पर बिहार में भव्य आयोजन किया जायेगा। यह आयोजन अप्रैल 2017 से शुरू होकर साल भर चलेंगा। इन कार्यक्रमों में देश भर के स्वतंत्रता सेनानियों या उनके परिवारों को बुलाकर उन्हे सम्मानित किया जायेगा। मुख्यमंत्री नीतीश […]

पर्यटन स्थल बिहार दर्शन

बिहार दर्शन: जाने बिहार विभिन्न जिलो के दार्शनिक स्थलों को

“आइए आज हम सब मिलकर जाने बिहार के बारे में” बिहार भारत का एक राज्य है। बिहार की राजधानी पटना है। बिहार की चौहदी: उत्तर में नेपाल, पूर्व में पश्चिम बंगाल, पश्चिम में उत्तर प्रदेश और दक्षिण में झारखण्ड स्थित है। बिहार नाम, बौद्ध विहारों के विहार शब्द से हुआ है जिसे विहार के स्थान पर इसके विकृत रूप बिहार से संबोधित किया […]

खबरें बिहार की पर्यटन स्थल बिहार दर्शन

सज गया पटना साहिब.. पहुंचने लगे श्रद्धालु

दशमेश गुरु श्री गुरु गोविंद सिह के 350वें प्रकाशोत्सव को लेकर सभी तैयारियां पूरी हो गई हैं। इसके लिए तख्त श्री हरमंदिर जी पटना साहिब को सतरंगी रोशनियों से सजाया गया है। पटना सिटी से लेकर गांधी मैदान रौशनी से जगमगा रहा है। पटना साहिब, पटना घाट, राजेंद्र नगर, पटना जंक्शन, दानापुर और पाटलिपुत्र स्टेशन […]

Great Bihar खबरें बिहार की पर्यटन स्थल बिहार दर्शन राष्ट्रीय खबर

प्रकाशपर्व पर पटना आईये जरूर, समारोह की भव्यता और तैयारी देख दिल खुश हो जायेगा

मौंका मिले तो पटना आईए और गुरु गोविन्द सिंह के जंयती समारोह में शामिल होईए क्या तैयारी है दिल खुश हो जायेगा|गांधी मैंदान क्या कहना है लगता जैसे अमृतसर पहुंच गये हैं दरवार हांल क्या भव्यता है एक लाख लोगों के बैंठने कि व्यवस्था कि गयी है। पूरा मैंदान इस कार्यक्रम का मुख्य आयोजन स्थल […]

पर्यटन स्थल बिहार दर्शन

इस बिहारी ने की एक अनोखी पहल, चर्चा में है बिहार का यह चनका गांव

खेत , खेतों में लहलहाती फसलें , किसान और किसानी के लिए ही आमतौर पर गांव चर्चा में रहता है मगर आज बिहार के पूर्णिया जिले से 25 किलोमीटर दूर गांव चनका एक अनोखे काम के कारण चर्चा में है। शहरों के साधारण लोग हो या बुद्धिजीवी जिन्हें गांव में रूची है। उन्हें गांव को […]

खबरें बिहार की बिहार दर्शन राष्ट्रीय खबर

एक आस्ट्रेलियाई जिसने हिंदी और बिहारी साहित्य-संस्कृति के अध्ययन के प्रति दीवानगी पाल रखी है

हिन्दीसेवी इयान वुल्फोर्ड 37 वर्षीय युवा अमेरिकी नागरिक हैं जबकि जीविका के लिए वे ऑस्ट्रेलिया के मेलबोर्न शहर में रहते हैं। ला ट्रोब यूनिवर्सिटी में वे हिंदी भाषा एवं साहित्य के लेक्चरर हैं। इयान का जन्म इंग्लैण्ड में हुआ और वहीं बचपन का एक बड़ा हिस्सा भी बीता। जबकि उनके माता पिता अमेरिका में रहते […]

बिहार दर्शन

जगत जननी माँ सीता की जन्म भूमि ‘सीतामढ़ी’

जब मिथला के राजा जनक के राज्य में सुखे से नदी-नाले,कूप तालाव,सभी जल विहीन हो गये,सम्पूर्ण आकाश लाल चहूओर दूरभिक्ष से कोहराम,कोलाहल की बिकट स्थिति हो गयी। तब राज पुरोहितों,विधिज्ञों के परामर्श से महाराजा जनक स्वंय हल चलाते हलेश्वर स्थान से चले,पुनौरा धाम,सीतमढ़ी में हलटोन के नोक पर सोने के पात्र में माँते सीता भूमि […]