Trending in Bihar

Latest Stories

JEE Advance Result 2019: बिहार के अर्चित ने देशभर में हासिल किया तीसरा स्थान

आईआईटी रुड़की की ओर से आयोजित की गई आईआईटी जेईई एडवांस 2019 का रिजल्ट जारी कर दिया है। इस प्रतिष्ठित परीक्षा में देशभर में तीसरा स्थान हासिल कर हाजीपुर के मूल निवासी अर्चित बूबना ने बिहार का नाम देशभर में रौशन किया है।

अमेटी इंटरनेशनल स्कूल पुष्प विहार दिल्ली से 10वीं और 12वीं पास अर्चित दिल्ली या मुम्बई आइआइटी से कंप्यूटर में बीटेक करने की है। उन्होंने अमेटी इंटरनेशनल स्कूल पुष्प विहार दिल्ली से 12वीं की परीक्षा 97 प्रतिशत अंक लाकर पास की थी।

छठे अंतरराष्ट्रीय फिजिक्स ओलंपियाड में चयनित
आईआईटी जेईई एडवांस में देशभर में तीसरा स्थान हासिल करने वाले अर्चित को एक और उपलब्धि मिली है। उसका चयन छठे अंतरराष्ट्रीय फिजिक्स ओलंपियाड के लिए हुआ है। यह ओलंपियाड सात जुलाई से लेकर 15 जुलाई तक इजराइल में आयोजित होगी। इस प्रतियोगिता के लिए लिए भारत से 05 बच्चों का चयन किया गया है। भारत सरकार द्वारा कई चरणों तक चली चयन प्रक्रिया के बाद इन बच्चों का चयन किया गया है। भविष्य में उनकी योजना अमेरिका के एमआइटी से आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में उच्चतर अध्ययन करने का है। भारत सरकार ने अर्चित को युवा वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना के तरह उच्च शिक्षा के लिए स्कॉलरशिप भी दिया है।

मालूम हो कि अर्चित ने 2018 में वियेतनाम में हुए एशिया फिजिक्स ओलंपियाड में गोल्ड मैडल जीता था। अर्चित का कहना है कि वह आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में वैज्ञानिक बनकर अपने देश के लिए काम करना चाहता है।

अर्चित की सफलता से गदगद पिता विशाल बूबना अभी दिल्ली में ही बेटे के साथ हैं। उन्होंने फोन पर हुई बातचीत के दौरान बताया कि बेटे की इस सफलता को लेकर हमलोग आश्वस्त थे। उन्होंने बताया कि सबसे पहले सुबह के 10 बजे हमलोगों को रुड़की आईआईटी के चेयरमैन का फोन आया। उन्होंने बताया कि देश भर में तीसरा स्थान हासिल करने के लिए अर्चित को और आप लोगों को बधाई। इसके बाद केंद्रीय शिक्षामंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का फोन आया। उन्होंने भी बधाई दी। बेटे की सफलता का राज बताते हुए उन्होंने कहा कि बेटे ने जो भी पढ़ाई की वह मार्क्स लाने के लिए नहीं बल्कि ज्ञान अर्जित करने के लिए पढ़ा। यही उसकी उपलब्धी है। बेटे की सफलता पर मां श्वेता बूबना काफी खुश हैं। उन्होंने  बताया कि पढ़ाई के अलावा किसी काम में बेटे का मन नहीं लगता है। इसलिए मैं तो हर मां-बाप को यही कहूंगी कि आपका बेटा जिस क्षेत्र में अच्छा कर रहा हो, उसे उसी क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए पूरी सपोर्ट दें।

 

Search Article

Your Emotions

    Leave a Comment

    %d bloggers like this: