Instagram Slider

No images found!
Try some other hashtag or username

Latest Stories

Featured Articles
BQhdufh
aapna bihar is one of the best & trusted portal of bihar.good luck.

Featured Articles
BQhdufh
aapna bihar is one of the best & trusted portal of bihar.good luck.

बिहार की श्वेता सिंह को फिर मिला सर्वश्रेष्ठ न्यूज एंकर का पुरस्कार

एक बार फिर एक बिहारी ने राष्ट्रीय फलक पर अपने प्रतिभा का लोहा मनवाया है। बिहार के पटना जिला की निवासी और आजतक की मशहूर एंकर श्वेता सिंह को ENBA (Exchange4media News Broadcasting Awards) 2018 में सर्वश्रेष्ठ हिंदी एंकर और सर्वश्रेष्ठ स्पोर्ट रिपोर्टिंग का अवार्ड दिया गया है।

श्वेता सिंह का जन्म बिहार के पटना में 21 अगस्त 1977 को हुआ था। श्वेता सिंह तकरीबन 20 सालों से मीडिया से जुड़ी हैं। श्वेता पटना यूनिवर्सिटी से जब स्नातक की पढाई की है। वर्ष 1998 में, उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में पहला कदम रखा। आजतक 2002 में ज्वाइन किया इससे पहले इन्होने ज़ी न्यूज़ और सहारा जैसे बड़े न्यूज़ चैनल में भी काम कर चुकी है।

इन्हें राजनीति से लेकर खेल, बिज़नेस, सिनेमा हर क्षेत्र में महारथ हासिल है। टीवी न्यूज़ के मामले में भी श्वेता ऑलराउंडर हैं। उन्हें इस से पहले भी सर्वश्रेष्ठ ऐंकर, सर्वश्रेष्ठ प्रोड्यूसर और रिपोर्टर का जैसे कई अवॉर्ड मिल चुकें हैं।

श्वेता सिंह आजतक के स्पेशल प्रोग्रामिंग टीम की एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं। ‘ऊपरवाला देख रहा है’, ‘वंदेमातरम’, ‘आजतक का गांव कनेक्शन’ इस टीम के बनाए हुए चुनिंदा कार्यक्रमों में शामिल हैं।

श्वेता आजतक पर रोज़ रात 9 बजे आने वाले न्यूज़ बुलेटिन ख़बरदार की ऐंकर हैं। साथ ही अलग-अलग मुद्दों पर उनका कार्यक्रम ‘श्वेतपत्र’ अपनी एक अलग पहचान बना चुका है।

sweta singh, aaj tak, best anchor,

वह खेल संबंधी समाचारों को कवर करने में काफी निपुण मानी जाती हैं। वर्ष 2005 में, उनका शो “सौरव का सिक्स” को स्पोर्ट्स जर्नलिज़म फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसजेएफआई) के द्वारा सर्वश्रेष्ठ खेल कार्यक्रम के लिए पुरस्कृत किया गया।

उन्हें चक्रव्यूह जैसी कुछ फिल्मों में आज तक चैनल के समाचार प्रस्तुतकर्ता के रूप में दिखाया गया है। वर्ष 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान श्वेता ने “History of Patliputra” (पाटलिपुत्र का इतिहास) नामक कार्यक्रम को किया। वर्ष 2013 में, श्वेता सिंह को सर्वश्रेष्ठ एंकर के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

 

Facebook Comments

Search Article

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: