Trending in Bihar

Latest Stories

बिहार बोर्ड ने मैट्रिक और इंटरमीडिएट के परीक्षा पैटर्न सहित एडमिट कार्ड में किया बड़ा बदलाव

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बिहार बोर्ड) ने अपनी मैट्रिक व इंटर की परीक्षाओं के पैटर्न में बड़ा बदलाव किया है। अब मैट्रिक व इंटर के आधे प्रश्‍न ऑब्‍जेक्टिव होंगे, जिनके जवाब ओएमआर शीट पर देने होंगे। शेष 2 और 5 नंबर के होंगे। लघु और दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों की संख्या कितनी होगी इसकी जानकारी बोर्ड की वेबसाइट पर नवंबर के प्रथम सप्ताह में दी जाएगी।

भाषा विषयों में दीर्घउत्तरीय प्रश्नों के अंक पांच से अधिक हो सकते हैं। निबंध जैसे प्रश्नों के अंक पांच से अधिक होंगे। साइंस और गणित में एक, दो और पांच अंक के ही प्रश्न होंगे।

बोर्ड अध्‍यक्ष के अनुसार परीक्षार्थियों को अधिक अंक प्राप्त हों इसलिए प्रश्नपत्र के पैटर्न में बदलाव किया जा रहा है। कुल लघुउत्तरीय प्रश्नों की संख्या हल किए जाने वाले प्रश्नों से 50 फीसद अधिक होगी। मसलन किसी विषय में 10 लघुउत्तरीय प्रश्नों का जवाब देना है तो प्रश्नपत्र में 15 प्रश्न होंगे। सभी दीर्घउत्तरीय प्रश्नों के दो विकल्प होंगे। इसमें किसी एक का जवाब परीक्षार्थी को देना होगा। विज्ञान के पेपर में वस्तुनिष्ठ, लघु और दीर्घ, तीनों स्तर में न्यूमेरिकल प्रश्नों की संख्या बढ़ाई जाएगी। इससे परीक्षार्थियों को अधिक अंक प्राप्त करने में सहूलियत होगी।

इसके साथ ही बिहार इंटरमीडिएट और मैट्रिक परीक्षा 2018 के एडमिट (प्रवेश-पत्र) कार्ड का डमी निकाला जायेगा| ताकि रजिस्ट्रेशन से लेकर परीक्षा फॉर्म भरने के दौरान होने वाली त्रुटियों की सुधार डमी एडमिट कार्ड के द्वारा की जा सके| सोमवार को बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की अोर से आयोजित प्रेस वार्ता में समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि इस बार परीक्षार्थियों को किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिए समिति ने डमी एडमिट कार्ड इश्यू करने का निर्णय लिया है| ताकि परीक्षार्थी के नाम राेल नंबर , फोटो , विषय आदि में किसी प्रकार की त्रुटि हो, तो उसे सुधारा जा सके. डमी डममिट कार्ड की त्रुटि सुधारने के बाद बोर्ड द्वारा फाइनल एडमिट कार्ड इश्यू किया जायेगा|

 

Search Article

Your Emotions

    Leave a Comment

    %d bloggers like this: