world_bank
बिहारी विशेषता राष्ट्रीय खबर

अब प्रतिष्ठित विश्व बैंक ( Wold Bank) ने भी इस बिहारी को आमंत्रित किया है !

बिहार-बिहार-बिहार, बिहारी-बिहारी-बिहारी हर तरफ आप सुनते होंगे|
बिहार के बारे में आप कैसा सुनते हैं वो इस पर निर्भर करता है कि आपकी संगति कैसी है! कुछ लोगों को बिहारी मतलब बांके बिहारी श्री कृष्णा समझ में आता है, अयोध्यावासी तो बिहारी या मिथिला सुन के हंसी-मजाक करना शुरू कर देते हैं| मंत्रालय, सचिवालय में बिहारी का मतलब कोई बड़ा साहेब या IAS अधिकारी होता है| कहीं बिहारी शब्द सुन के मुँह से वाहे गुरु जैसा शब्द भी निकल जाता है| ये बहुत बड़ा और मजेदार विषय है| खैर आज जिन शक्सियत से हम आपको मिलवाने से जा रहे हैं, उसका आत्म-विश्वास उन्हें खास बनाता है|

सबसे पहले तो नाम ही बहुत खास है इनका| नाम में प्रयुक्त शब्दों को देखें तो इनका एक जबरदस्त व्यक्तिव बनता है| ज्ञान व् ‘विवेक’ का ‘सागर’ जो अनंत गहराईयों में बिहार व् देश के लिए सुन्दर सपना रखता हो, साथ में व्यव्हार-विचार बिलकुल मृदु हो, साधारण हो, सरल हो वो ही शायद ये कहला सकता है-  ” शरद विवेक सागर “!

अब हम बताते हैं हाल ही में इन्हें मिली एक और उपलब्धि के बारे में जो इनके अक्टूबर महीने में अमेरिका के राष्ट्रपति श्री बराक ओबामा से मुलाकात के बाद दूसरी बड़ी खबर है और उपलब्धि भी है; उनके लिए, हमारे बिहार के लिए, हर भारतीय के लिए!
उन्होंने लगभग 9 घंटे बिताया अमेरिका के वाइट हाउस में और वो ९० मिनट का खास Session रहा अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ | राष्ट्रपति बराक ओबामा ने उसी दौरान शरद विवेक सागर को बधाई देते हुए कहा कि “उम्मीद करता हूँ मजा आ रहा होगा आपको, वाइट हाउस में”| आपको पता ही है, ये भारत के एक मात्र नागरिक हैं जिन्हें इस साल अमेरिकी राष्ट्रपति ने बुलाया| इस खबर को हर छोटे बड़े मीडिया हाउस ने खूब जगह दी थी| यह चर्चा का विषय बन गया था|

अब इसी महीने  इनको  “वर्ल्ड बैंक यूथ सबमिट ” में आने का आमंत्रण मिला है !

24 वर्षीय ‘Dexterity Global’ के CEO को इस साल नवम्बर महीने में होने वाले ‘World Bank Youth Summit’ में आमंत्रित किया गया है, जो अमेरिका के वाशिंगटन DC में आयोजित होना है| इस प्रोग्राम का नाम है ‘The World Bank Youth Summit: Rethinking Education for the New Millennium’, जो इस बार साथ लायेगा वर्ल्ड बैंक के प्रतिनिधि व् पूरी दुनिया के कुछ चुनिंदा यूथ लीडर्स को जिन्होंने प्राइवेट सेक्टर या सरकारी सेक्टर में अपने बेहतर काम, नई सोच, इनोवेशन के साथ अलग मुकाम पाया है| यहाँ ये सभी आपस में विचारों का आदान प्रदान करेंगे |
इस प्रोग्राम के लिए विश्व भर से लगभग १८०० लोगो में से कुछ विशेष शख्सियतों को बुलाया गया है जिनकी इस सदी में ‘शिक्षा व् शिक्षा व्यवस्था’ को ले के उम्दा और अलग सोच है|

हाँ ये वही शरद विवेक सागर हैं जिन्होंने केवल 16 साल की उम्र में Dexterity Global की स्थापना की, जहाँ बच्चों को शिक्षा में एक प्लेटफार्म देना इनका एक मात्र उदेश्य हैं| जहाँ ये बच्चों में लीडरशिप क्वालिटी से लेकर कई मौके प्रदान करते हैं| सही और सटीक दिशा निर्देश दे के ये भारत में हर साल लगभग १२ लाख बच्चों को लाभांवित करते हैं अपने इस प्रयास से|

साल 2016 इनके लिए लाजबाब रहा है, और हम बिहारवासियों के लिए भी जब जनवरी -फरवरी में शुरुआत हुई थी धमाकेदार उपलब्धि से; जब पहली बार किसी बिहारी का नाम दुनिया के प्रसिद्द मैगज़ीन Forbes में शामिल हुआ| शरद विवेक सागर का नाम टॉप 30 अंडर 30 लीडर/ उभरते बिजनेसमैन के लिस्ट में आया था, जिसमें फेसबुक के Mark Zuckerbarg , Malala Yousafzai समेत कई जानी-मानी हस्तियाँ थीं| मीडिया में हर तरफ चर्चा का विषय तब जो शुरू हुआ आज तक चल रहा है| एक के बाद उपलब्धियों से धमाल मचा रखा है शरद विवेक सागर जी ने!

sharad_vivek_sagar_white_house

अअभी 2 महीने और बचे हैं 2016 में| न जाने कितनी और उपलब्धियों और रिकॉर्डस से बिहार का यह लाल देश का नाम रोशन करेगा| ये अनुमान भी लगा पाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन सा है|

आपन बिहार टीम की ढेर सारी शुभकामनायें इनके साथ हैं।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.