बिहार में निवेश और एक विश्वविद्यालय खोलेगा यह बिहारी अरबपति

anil-agarwal

हाल ही में प्रतिष्ठित फोर्ब्स पत्रिका ने भारत के टॉप 100 अमीर लोगो का लिस्ट जारी किया था उसमें दो बिहारियों ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई थी। उसी में से एक है वेदांता रिसोर्सेज के संस्थापक अनील अग्रवाल । अनील अग्रवाल को फोर्ब्स पत्रिका ने टॉप 100 अमीरों के सूची में 65वाँ स्थान दिया है।

अनील अग्रवाल का जन्म बिहार के पटना में 24 जनवरी 1954 में एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था। मिलर हाई स्कूल से उन्होंने पढाई की और मात्र 15 साल की उम्र में पढाई छोड़ उन्होंने अपने पिता का बिजनेस से जुड़ गयें । 1976 में उन्होंने वेदांता रिसोर्सेज का स्थापना की।

 

बिहार में खोलेंगे विश्वविद्यालय 

  • 4,000 ‘नंद घरों’ का निर्माण करेगा वेंदाता समूह

  • विश्वस्तरीय विश्वविद्यालय खोलना चाहते हैं उद्योगपति अनिल अग्रवाल
  • बिहार के ऑक्सफोर्ड की तौर पर खोला जाएगा विश्वविद्यालय

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के राज्य में निवेश के आह्वान पर वेदांता रिसोर्सेज के संस्थापक अनिल अग्रवाल ने उनकी अपने गृह राज्य बिहार में एक खनिज प्रसंस्करण संयंत्र और एक विश्वस्तरीय विश्वविद्यालय शुरू करने की योजना होने की बात कही। अपने कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत वेदांता 4,000 ‘नंद घरों’ का निर्माण करेगा जो आंगनवाड़ियों का स्थान लेंगे और इनमें से अधिकांश बिहार में होंगे. अग्रवाल ने यह बात यहां बिहार चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के 90वें सालाना उत्सव में कही थी. उन्होंने कहा कि बिहार में प्रस्तावित खनिज प्रसंस्करण संयंत्र जस्ता, चांदी और तांबे के लिए होगी और इसके निर्माण की लागत 50 करोड़ से 500 करोड़ रुपये तक होगी.

उन्होंने कहा कि राज्य में एक विश्वस्तरीय विश्वविद्यालय खोलना उनका स्वप्न है जो ओडिशा के वेदांता विश्वविद्यालय की तरह ही होगा और इसे बिहार के ऑक्सफोर्ड के तौर पर जाना जाएगा.

Facebook Comments

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.

top