narendra-modi-and-nitish-kumar_650x400_71456834517.jpg
खबरें बिहार की

सर्जिकल स्ट्राइक पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी का किया खुलकर समर्थन

जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष का पदभार संभालते ही बिहार के मुख्मंत्री नीतीश कुमार ने सर्जिकल स्ट्राइक पर बड़ा बयान दिया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सर्जिकल स्ट्राइक का खुलकर समर्थन करते हुए कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनका पूरा समर्थन है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ पीएम मोदी के हर कदम का समर्थन है। इसके साथ ही नीतीश ने यह भी कहा कि पिछले महीने PoK में हुई सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर राजनीतिक मौकापरस्ती नहीं दिखाई जानी चाहिए।

नीतीश कुमार ने कहा, ‘पाकिस्तान के खिलाफ सभी जरूरी कदम उठाया जाए। इस्लामाबाद को लव लेटर लिखना बंद होना चाहिए। हमलोग एक राष्ट्र के रूप में आपके साथ हैं।’ पटना से 120 किलोमीटर दूर राजगीर में नीतीश कुमार ने यह बात कही। नीतीश कुमार ने कहा कि पीएम पाकिस्तान को वैश्विक स्तर पर अलग-थलग करने का कैंपेन चला रहा हैं लेकिन इस मामले में और सख्त होने की जरूरत है।
नीतीश ने लव लेटर की बात पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के जन्मदिन पर मोदी की सरप्राइज यात्रा के संदर्भ में कही है। कुमार ने जोर देते हुए कहा, ‘याद रखना चाहिए कि आप देश के प्रधानमंत्री हैं और आपको राष्ट्र के नेता के रूप में व्यवहार करना चाहिए न कि बीजेपी के नेता की तरह।

29 सितंबर को भारतीय सैनिकों ने जम्मू-कश्मीर में लाइन ऑफ कंट्रोल पार कर आतंकियों के सात ठिकानों को ध्वस्त किया था। आर्मी का कहना है कि यहां से आतंकी भारत के बड़े शहरों को निशाना बनाने वाले थे। विपक्षी कांग्रेस और अरविंद केजरीवाल ने इस मामले में सबूत की मांग की थी। इनका कहना था कि पाकिस्तान सर्जिकल स्ट्राइल की बात नहीं मान रहा है ऐस में सरकार को सबूत पेश करना चाहिए।

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस मामले में मोदी पर तीखा हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि आर्मी के इस कदम पर मोदी राजनीतिक फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं। राहुल ने यहां तक कह दिया था कि मोदी खून की दलाली कर रहे हैं।

इस मामले में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर प्रधानमंत्री मोदी की लगातार तारीफ करते रहे। उन्होंने कहा कि मोदी ने साहसिक कदम उठाने की हिम्मत दिखाई। बीजेपी चीफ अमित शाह ने भी कहा है कि सीमा पर रेड को उत्तर विधानसभा चुनाव में मुद्दा बनाया जाएगा। लाइन ऑफ कंट्रोल के पार इस सर्जिकल स्ट्राइक को उड़ी में आर्मी बेस पर हुए आतंकी हमले के बदले के रूप में देखा जा रहा है। उड़ी आर्मी बेस पर चार पाकिस्तानी आतंकियों के हमले में 19 भारतीय सैनिक मारे गए थे।

हाल की अपनी स्पीच में पीएम मोदी ने पाकिस्तान का बिना नाम लिए कहा है कि दूसरे देशों में आतंकी हमले पड़ोसी देश की जमीन से हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि पड़ोसी देश ने आतंकियों को अपनी जमीन इस्तेमाल करने की इजाजत दे रखी है। रविवार को मोदी ने गोवा में BRICS समिट में (ब्राजील, रूस, इंडिया, चीन और साउथ अफ्रीका) कहा कि पाकिस्तान आतंतकवाद की जननी है।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.