बिहारी विशेषता

शहीद जितेंद्र सिंह की बेटी बोली, पीएम मोदी ही अब मेरे पापा, जरूर लेंगे शहादत का बदला

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तानी सेना के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए जवान जितेंद्र सिंह के परिजनों की बात सुनकर किसी का भी दिल पसीज जाएगा। बीएसएफ के हेड कॉन्सटेबल जितेंद्र का पार्थिव शरीर जब उनके गांव लाया गया तो भावनाओं का ज्वार उमड़ आया। शहीद जितेंद्र अपने पीछे दो बेटियां और एक बेटा छोड़ गए हैं। लेकिन उनके बच्चों के हौसले और आवाज में दृढ़ता सुनकर आप का भी सीना गर्व से चौड़ा हो जाएगा।

शहीद जितेंद्र सिंह के दोनों बेटियों और बेटे ने कहा कि उनके पिता देश के लिए शहीद हुए हैं। अब वो नहीं रहे तो देश के प्रधानसेवक पीएम मोदी ही उनके पिता हैं। इतना ही नहीं, शहीद की बड़ी बेटी अर्चना सिंह ने कहा कि हम चाहते हैं कि पीएम मोदी हमारी मदद करें। उनकी मदद से हम भी सेेना में नौकरी करके देश की सेवा कर सकें। बेटियों ने कहा कि पीएम मोदी अब उनके पिता की मौत का बदला लेने में मदद करेंगे। देशभक्ति से ओत-प्रोत शहीद जितेंद्र की बेटियों को अपनी माली हालत का भी ध्यान हैं। यही कारण है कि उन्होने प्रधानमंत्री से अपील की है कि वो उनके मदद करें। उनके पिता की शहादत के बाद उनके परिवार में कमाने वाला कोई नहीं है। अब प्रधानमंत्री को हमारी देखभाल करनी है। दोनों बच्चियों ने कहा कि हमें प्रधानमंत्री मोदी से काफी उम्मीदें हैं।

शहीद जितेंद्र सिंह के बच्चों ने कहा कि हमारी पिता देश के लिए हमेशा सोचते थे। बेटे रोहित कुमार ने कहा कि पिताजी जब भी घर आते थे तो हमेशा कहा करते थे कि किसी से डरना नहीं। डर के आगे ही जीत होती है। शहीद के बेटे रोहित ने कहा कि वो भी सेना में जाना चाहता है। रोहित ने भी कहा कि वो अपने पिता की शहादत का बदला लेना चाहते हैं। शहीद जितेंद्र की बड़ी बेटी दसवीं क्लास में पढ़ती है। छोटी बेटी सातवीं में और बेटा रोहित चौथी क्लास में पढ़ाई कर रहा है। इन सभी का कहना है कि हमारे पिता ने देश के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी। अब उन्हे पीएम मोदी से उम्मीदें हैं। वो चाहते हैं कि सरकार उनके परिवार की देख-रेख करे।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *