14269890_977443835710896_27003158_n
बिहारी विशेषता

भोजपुरी भाषा के सम्मान में भोजपुरवासी मैदान में।

भोजपुरी के गढ़ भोजपुर में भोजपुरी के पढाई बंद करने के विरोध में भोजपुरी बचावो अभियान ने आज भोजपुर बंद किया।बंद के समर्थन में कई छात्र संगठन जैसे छात्र।। समागम,अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, NSUI राजनैतिक,सामाजिक और सांस्कृतिक संगठन,(अश्लीलता मुक्त भोजपुरी एसोसिएशन,सर्जना ट्रस्ट,मचान एक सामाजिक संस्थान,)कलाकार,पत्र­कार,भोजपुरी प्रेमीयों ने बढ़ चढ़ कर अपनी सहभागिता दर्ज की।।
ज्ञात हो की वीर कुँवर सिंह विश्वविधालय में पिछले 20 वर्षो से भोजपुरी की पढाई हो रही थी जिसको बंद कर दिया गया।।भोजपुरी की पढाई बंद होने के चलते सभी छात्र संगठन और भोजपुरी भाषियों में काफी आक्रोश नजर आ रहा था ।पिछले दिनों छात्र समागम के विश्वविधालय अध्यक्ष कुमुद पटेल,युवा के नेतृत्व में विश्वविधालय में आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया गया था।।
भोजपुर बंद का असर पुरे आरा शहर के में दिखा।
भोजपुरी बचावो अभियान के भोजपुरिया जवानो ने सुबह 7.30 बजे बक्सर इस्लामपुर पॅसेंजर(ट्रेन) को रोककर भोजपुर बंद का ऐलान किया।।वही भोजपुरी बचावो अभियान के समर्थन में छात्र समागम के कार्यकर्ताओं ने ओवर ब्रिज को जाम कर दिया।जिससे आरा-सासाराम,बक्सर पथ पर आवगमन पूरी तरह ठप हो गया।abvp के कार्यकर्तावो ने आरा शहर में चक्का जाम कर विरोध प्रदर्शन किया।।भोजपुरी बचावो अभियान के कार्यकर्तावों ने आरा स्टेशन,नवादा चौक,बड़की मठिया,जेल रोड,गोपाली चौक,सपना सिनेमा मोड़,आरा पटना स्टेट हाइवे को जाम कर विरोध प्रदर्शन किया।वही nsui ने भोजपुरी बचावो अभियान का समर्थन करते हुए वीर कुँवर सिंह विश्वविधालय के सभी विभाग को बंद कराने के बाद महिला कॉलेज पंहुचा जहाँ उसे समर्थन मिला।
भोजपुरी की पढाई चालू कराने, भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल कराने की मांग भोजपुरी बचावो अभियान के कार्यकर्तावों द्वारा की जा रही थी।।भोजपुरी को बचाने के जगदीशपुर के पूर्व विधायक भाई दिनेश भी पुरे शहर में घूमकर विरोध प्रकट किया।भोजपुरी बचावो अभियान का समर्थन करते हुए उन्होंनेकहा की अगर जल्द से जल्द भोजपुरी की पढाई चालू नहीं होती है तो आरा से राजभवन पैदल मार्च किया जाएगा।।
भोजपुरी बचावो अभियान के कार्यकर्तावों ने मानवता का परिचय देते हुए जाम में फँसे कई ambulance को रास्ता दिया।
वरिष्ठ रंगकर्मी ओम प्रकाश पाण्डेय द्वारा बनाये गए सोसल मीडिया पर भोजपुरी बचावो अभियान पेज और whtsapp group ने इतना प्रभाव दिखाया की हजारों लोग दलगत राजनीति से ऊपर उठकर अपनी मातृभाषा की स्मिता बचाने के लिये आगे आये और भोजपुर बंद को सफल बनाये।।
भोजपुरी बचावो अभियान ने आज की पूर्व संध्या में ही बैठक कर भोजपुर बंद का ऐलान किया था जिसकी लिखित सुचना जिला प्रसाशन को दे दी गयी थी।
आंदोलन कारी ओम प्रकाश पाण्डेय ने कहा की भोजपुरी हमारी मातृभाषा है और इसके साथ छेड़ छाड़ हम बर्दास्त नहीं करेंगे।।
पुरे भोजपुर शहर में जाम का मिला जुला असर दिखा।भोजपुरी के समर्थन में सभी व्यवसायिक वर्ग अपना दूकान बंद अभियान का समर्थन करते हुए भोजपुरी की पढाई चालू करने की अपील की।।
युवा रंगकर्मी छात्र नेता अविनाश राव भोजपुरी बचावो अभियान के युवा साथी नारों के साथ अपने हुजूम में प्रदर्शन करते नजर आये।।अश्लीलता मुक्त भोजपुरी एसोसिएशन आरा के संयोजक अविनाश राव भोजपुरी में फैले अश्लीलता के खिलाफ पहले भी आंदोलन किये हैं जिसका सकारात्मक पहल हुआ और राज्य सरकार ने अश्लीलत गानों पर पूरी तरह बैंड लगा दिया।
ना भीख ना कर्जा चाहीं
भोजपुरी के आपन दर्जा चाहीं।।

अभी तो ये अंगड़ाई है
आगे अभी लड़ाई है।

विश्वविश्विधालय प्रसाशन मुर्दाबाद।।

भोजपुरी की पढाई चालु करे के होइ।।।

ओम प्रकाश पाण्डेय,मंगलेश तिवारी,प्रकाश सिंह,अटल बिहारी पाण्डेय,सहीत कई कलाकार ने मिलकर एक भोजपुरी बचाने के लिए short film बनाये हैं जिसका निर्देशन अमित मिश्रा ने किया है।।जिसको whtsapp or Facebook पर शेयर कर भोजपुरी को बचाने के लिए आगे आने की अपील की जा रही है।।
बंद में हम के राष्ट्रिय प्रवक्ता दानिश रिजवान,भाजपा,बजरंग दल सहित कई राजनैनिक संगठन के लोग शामिल हुए।।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.