13871976_1052602888155229_78070525
खेल जगत

प्रो कबड्डी : लगातार दूसरी बार चैंपियन बनने की राह पर पटना पाइरेट्स

प्रोक्बड्डी लीग के पिछले सीजन के विजेता और लगातार चार बार सेमीफाइनल में प्रवेश करने वाली एकमात्र टीम पटना पाइरेट्स लगातार दूसरी बार चैंपियन बनने के लिए तैयार है।

वहीं पहले संस्करण के विजेता जयपुर पिंक पैंथर्स स्टार स्पोर्ट्स प्रो कबड्डी लीग के रविवार को होने वाले खिताबी मुकाबले में आखिरी पंगा लेने के लिये तैयार हो गये हैं।

 

प्रो कबड्डी की टैग लाइन है ले पंगा और खिताबी मुकाबले में पटना और जयपुर एक दूसरे से पंगा लेने के लिये कमर कस चुके हैं। गाची बावली स्टेडियम में खिताबी मुकाबला खेला जाएगा और इसके पहले महिला चैलेंज का फाइनल फायर बर्ड्स और स्टॉर्म क्वींस के बीच होगा। तीसरे स्थान के लिये पुणेरी पल्टन और तेलुगु टाइटंस की टीमें भिड़ेंगी।

 

खिताबी मुकाबले की पूर्व संध्या पर शनिवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में दोनों पुरूष टीमों और दोनों महिला टीमों के कप्तानों ने फाइनल के लिये अपने अपने दावे किये। जयपुर पिंक पैंथर्स के कप्तान जसप्रीत सिंह ने कहा चौथे संस्करण की ट्रॉफी उठाने के लिये हम पूरी तरह तैयार हैं। डिफेंस हमारा सबसे मजबूत पक्ष है और हम पटना के रेडर्स को रोकने की पूरी कोशिश करेंगे। जयपुर ने कल सेमीफाइनल में अपने मजबूत डिफेंस की बदौलत तेलुगु टाइटंस को 34-24 से हराया था।

 

जसवीर ने कहा हमारे पास अजय, राजेश नरवाल और शब्बीर बापू के रूप में अच्छे रेडर हैं और मुझे लगता है कि हम पटना को कड़ी चुनौती देने में कामयाब होंगे। पटना निश्चित रूप से एक अच्छी टीम है और उसके खिलाफ जीतने के लिये हमें अपना पूरा जोर लगाना होगा।

 

दूसरी ओर पटना ने अपना सेमीफाइनल मुकाबला पुणेरी पल्टन से बेहद कड़े संघर्ष में 37-33 से जीता था। पटना के कप्तान धर्मराज मानते हैं कि फाइनल काफी मुश्किल होगा। तमिलनाडु के धर्मराज ने कहा दोनों ही टीमें डिफेंस और अटैक में काफी अच्छी हैं। हमारा भी डिफेंस मजबूत है लेकिन हमें लीग मैचों के परिणाम को ध्यान में रखते हुये खेलना होगा। हमने जयपुर से दोनों लीग मैच नजदीकी अंतर से हारे थे। इसलिये जरूरी है कि हम लीग मैच की गलतियों से सबक लेकर बेहतर करें।

 

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.