PicsArt_06-27-07.49.17
आपना लेख एक्ट्रेस मत बदनाम करो बिहार को मनोरंजन

एक्टिंग में नाम कमा रही बिहार की यह बेटी

मेनका

बिहारियों के महनत और काबलियत का दुनिया लोहा मानती है।  बिहारी हर क्षेत्र में अपना झंठा गार रहें है। बिहार के लोग सिर्फ डाक्टर, इंजीनियर और आईएएस नहीं बल्कि फिल्म जैसे क्षेत्र में कामयाब हो रहे हैं।  मनोज बाजपेयी, सोनाक्षी सिन्हा,  प्रकाश क्षा जैसे कालाकार फिल्म उद्योग में बिहार का नेतृत्व कर रहे हैं।  

 

लिफ्ट करा दे में करण जौहर और साहीद कपूर के साथ मेनका
लिफ्ट करा दे में करण जौहर और शाहिद कपूर के साथ मेनका

बिहार के मुंगेर जिले के मेनका सिंह भी इस क्षेत्र की एक उभरता हुआ कलाकार है।  मेनका 2010 के राष्ट्रीय स्तर पर प्रसारित होने वाले रियालीटी शो ‘लिफ्ट करा दे’ की विजेता है।

मेनका

कुछ सालों बाद मेनका मुंबई आ गयी।  उसके बाद उन्हे बहुत से फोटो सूट एवं मियूजिक एल्बम में काम करने का मौका मिला साथ ही चक्रव्यू, सिंह साहब दी ग्रेट, खिलाडी 786, ये जवानी है दिवानी, गंगनम स्टाईल गाना, हसी तो फसी और प्रेम रतन धन पायो जैसे अनेक बडे फिल्मों में बैकग्राउंड डांस किया है।

सिंह साहब दी ग्रेट के शूटिंग के दौरान
सिंह साहब दी ग्रेट के शूटिंग के दौरान

 

तो वही टीवी पर प्रसारित होने वाले धारावाहीक जैसे महादेव,  ड्रीम गर्ल, सपने सुहाने लडकपन के,  ये रिश्ता क्या कहलाता है, दिल्ली वाली ठाकुर गर्ल, बडे अच्छे लगते है, कबूल है जमाई राजा,  मेरी आशकी तुमसे और क्राईम पेट्रोल जैसे नामी धारावाहीक में मेनका को काम करने का मौका मिला है।

menka

 

मेनका मुंगेर से सीबीएसई बोर्ड से 12वीं तक पढाई की फिर मुंबई चली आई।  उसके बाद उनका पढाई उस से आगे न बढ सकी।  मुंबई आ के उन्होनें जेनीथ डांस एकेडमी में डांस एकेडमी में काम किया और फिल्मों में बैकग्राउंड डांस भी किया।

received_1096825167058660

मूंगेर से ही मेनका थियेटर से जुडी है।  बच्पन से ही उसे एक्टिंग का शौक है।  माँ माया सिंह और पिता रामअवतार सिंह की एकलौती बेटी है मेनका।  मगर माता पिता साथ नहीं रहते।

मेनका कहती है,  पूरा सहयोग माँ का ही मिला है मुझे।  माँ के लिए और बिहार के लिए मुझे बहुत कुछ करना है।

 

Aapna Bihar द्वारा चलाए जा रहे मुहिम #MatBadnamKaroBiharKo (मत बदनाम करो बिहार को) को भी मेनका ने अपना समर्थन दिया है और आपन बिहार से बात-चीत में कहा, मैं भी इस मुहिम के साथ हूँ। बिहार मेरी मातृभूमी है। मुझे अच्छा लगता है “मैं” या “हम” करके बात करना।  बिहार का इतिहाश और संस्कृति बहुत महान है।  लोगों के विचार को बदलना है। बिहार में ही क्राईम नहीं होता बल्कि यह तो देश के सभी राज्यों में होता है तो फिर सिर्फ बिहार का नाम बदनाम क्यो? मुझे तो गर्व है बिहारी होने का। ”

 

 

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.