09_06_2016-anand_kishore
Education खबरें बिहार की

बिहार बोर्ड के नये अध्यक्ष आनंद किशोर के बनते ही बोर्ड में हरकंप मचा हुआ है

पटना: इंटर बोर्ड परीक्षा के परिणाम में हुई गड़बडी और टॉपर घोटाले के लिए पूरे देश में बदनामी झेल रहे बिहार बोर्ड  अभी पूरे सिस्टम को क्लीन करने में लगे है। नए बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर इसका नेतृत्व कर रहे है।  

 

इसी क्रम में जो कर्मचारी तीन साल से ज्यादा समय से कार्यालय में बने हुए थे, वरिष्ठ आईएएस अधिकारी आनंद किशोर ने  वैसे 218 कर्मचारियों का तबादला कर दिया है।

आनंद किशोर ने टॉपर घोटाला सामने आने के बाद वैसे कर्मचारियों को पहले ही निलंबित कर दिया है, जिनका जरा सा भी कनेक्शन घोटाले में सामने आया था. आनंद किशोर की इस कार्यवाही के बाद बोर्ड ऑफिस के कर्मचारियों में हड़कंप की स्थिति है.

 

उधर खबर आ रही है कि टॉपर घोटाला के मुख्य आरोपी के खिलाफ पुलिस के पास पुख्ता सबूत है।

 

एसआइटी की टीम ने बच्चा राय को दो दिनों के रिमांड पर लेकर शुक्रवार को पहले दिन पूछताछ की. एसआइटी की टीम ने इंटर मेधा घोटाले के संबंध में पूछा तो उसने पहले ही तरह ही रटा-रटाया जबाव दिया कि वह निर्देाष है और उसे फंसाया जा रहा है. जिस दिन बच्चा राय पकड़ा गया था, उस समय पुलिस के पास उसके खिलाफ साक्ष्य नहीं था मगर वहीं एसआइटी ने जैसे ही पुलिस की टीम ने विशुन राय कॉलेज परिसर व अन्य ठिकानों से बरामद समानों की जानकारी देने के साथ ही उसे जब दिखाया तो उसकी बोलती बंद हो गयी और उसके मुंह से जवाब तक नहीं निकला. इसके बाद एसआइटी टीम ने प्रश्नों की बौछार कर दी. एक तरह से एसआइटी टीम ने उससे पूछताछ के बाद मान लिया कि बच्चा राय ही इंटर मेधा घोटाले का मुख्य आरोपित है और वह बिहार बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद सिंह के साथ मिलकर गोरखधंधा कर रहा था.

 

 

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.